मधेस क्षेत्र की भगौलिक स्तिथि :

भगौलिक रूप से नेपाल को तीन क्षेत्रों में विभाजित किया गया है :
मधेस , भीतरी मधेस और पहाड़ !
मधेस नेपाल के दक्षिणी क्षेत्र का समतल भू-भाग है : पूर्व में मेची नदी से पश्चिम में महाकाली नदी तक फैला हुआ इसकी लम्बाई लगभग ५०० मिल है !
मधेस का क्षेत्रफल ८२८२ वर्ग मिल है , जो नेपाल के कुल क्षेत्रफल का १७ प्रतिसत मात्र है
समुंद्र की सतह से इसकी ऊँचाई लगभग १०० मीटर से ३०० मीटर तक है
यँहां का वातावरण गरम और समशीतोष्ण है
इस भू-भाग में नेपाल के अति आकर्षक , मनमोहक सुन्दर सदाबहार वन जंगल , सदा ही निरन्तर बहती रहनेवाली छोटी-बड़ी नदियाँ, झरनाएँ और तालाब भरे पड़े हैं
हिमालय से बर्फ पिघलकर बहनेवाली सदाबहार नदियाँ भी इसी भू-भाग से होकर गुजराती हैं
प्रकृति ने इस भू-भाग को कृषि योग्य उर्वरा भूमि प्रदान की है
अधिक अन्न उत्पादनके साथ यह क्षेत्र राजनितिक और सांस्कृतिक केन्द्र भी रहा है
मधेस नेपालका आर्थिक भण्डार भी कहा जाता है
मधेस के जिलो में कन्चनपुर, कैलाली, बर्दिया , बाँके, कपिलवस्तु, रुपन्देही, नवलपरासी, पर्सा, बारा, रौतहट, सर्लाही, महोत्तरी, धनुषा, सिरहा, सप्तरी, सुनसरी, मोरंग, झापा, आदि हैं
भीतरी मधेस चुरिया श्रृंखला और महाभारत श्रृंखला के बिच का भू-भाग है,
जँहां अनेक घाटियाँ पूरब से पश्चिम तक फैली हुई है , जिन में खासकर सुर्खेत, दांग, चितवन, मकवानपुर, सिन्धुली और उदयपुर जिलो का भू-भाग पड़ता है

Madhes, Nepal

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: